The Creator-Vishnu

    GOD.....O.....Operator of the world

भगवान् विष्णु हमारे परमात्मन (Supreme Soul) यानि सर्वोच्च आत्मा हैं, हमारे परमेश्वर (Supreme God)यानि परम भगवान हैं. वह हमारे भूतकाल, वर्तमान और भविष्य के मालिक हैं. भगवान् विष्णु वो हैं जो यूनिवर्स का समर्थन करता है, सम्हालता है.वह सभी स्रोत और सभी तत्वों के भीतर विकसित है. भगवान् विष्णु संरक्षण और ब्रह्मांड के निर्वाह के पहलू को नियंत्रित करता है, इसलिए वह "ब्रह्मांड के परिरक्षक" ("Preserver of the Universe") कहलाता है . भगवान् विष्णु भगवद गीता में भी वर्णित है जो एक 'यूनिवर्सल फॉर्म' (Vishvarupa) में हैं, ओर मानव धारणा या उसकी कल्पना (imagination ) की साधारण सीमा से परे है. विष्णु के दस अवतार हैं जिनमें से सबसे प्रसिद्ध राम और कृष्ण हैं ओर उसी अवतार रूप में पूजा की जाती है. अवतारों ओर उनकी कहानियों से पता चलता है की भगवान् वास्तव में अकल्पनीय और अविश्वसनीय है.(Unimaginable ओर Unbelievable ) भगवद गीता धर्म को फिर से जीवंत करने का अपने उद्देश्य का उल्लेख करती है ओर बुराई की ताकतों को जो धर्म को डराती हैं, के सामने उनकी दिव्य प्रकृति को प्रदर्शित करने का उल्लेख करती है

ऋग्वेद में, विष्णु नाम का 93 बार उल्लेख किया है. विष्णु भगवान,जो आकाश (Heaven ) और पृथ्वी (Earth) को अलग करतें है,के रूप में संबोधित किये गए हैं .कृष्ण, विष्णु के अवतार हैं ओर वैष्णव परंपरा में सुप्रीम व्यक्तित्व माने जाते है.
विष्णु के दस अवतार (Dashavatara) आमतौर पर सबसे प्रमुख माने जाते हैं.
1.Matsya,( मछली) जो वेद ओर मानव जाति को बचाने के लिए Damanaka का दमन करता है.

2.Kurma,( कछुआ) जो कि अमरता का अमृत पाने के लिए सागर मंथन में देवता और असुरों की मदद करता है.

3.Varaha,( सूअर) जो कि पृथ्वी बचाता है और Hiranyaksha को मारता है.

4.Narasimha, ( आधा मानव, आधा-शेर) जो दानव Hiranyakashapu को मरता है.

5.Vamana. (बौना) जो कि बाली से दुनिया को बचाने के लिए एक विशाल आकार धारण करता है.

6.Parashurama, एक सन्त कुल्हाड़ी के साथ, जो त्रेता युग में दिखाई दिया.

7.Rama, श्री रामचंद्र,एक राजकुमार और अयोध्या के राजा जिसने दानव राजा रावण का संघार किया.

8.Krishna, अपने भाई Balarama के साथ साथ Dwapara युग में अवतरीत हुए.

9.Buddha 10 Kalki .

विष्णु भगवान् के हजारों नाम हैं जो कि महाभारत के विष्णु सहस्रनाम ("विष्णु के हजार नाम") में एकत्र हैं और उनके अनुयायियों कि एक बहुत बड़ी संख्या है. विष्णु की पत्नी लक्ष्मी है जो धन की देवी है. जिसे श्री या लक्ष्मी, माया, Vishnumaya, या महामाया कहा जाता है. भगवान् विष्णु को दुनिया कि रचनात्मकता में देवी लक्ष्मी की जरूरत हमेशा रहती है, इस प्रकार देवी लक्ष्मी सभी रूपों में विष्णु के साथ है.